गला बैठना, सूखी खांसी की समस्या से छुटकारा पाने के लिए घी का ऐसे करें इस्तेमाल, जानें अन्य कमाल के फायदे

thumbnail


डेस्क। शुद्ध देशी घी जैसी वस्तु इस संसार में दूसरी कोई नहीं है। यह स्मरण-शक्ति को तीव्र बनाता है। इससे मेधा प्रखर व बुद्धि प्रबल बनती है। आप दूध में घी मिलाकर पीने के स्वास्थ्य लाभों के बारे में जानते हैं। घी से सेहत के कई फायदे होते हैं यह तो आपको पता ही होगा, अगर आप रोज़ाना खाने में घी का इस्तेमाल करते हैं तो इससे न सिर्फ आपका खाना ज़ायकेदार होगा बल्कि इससे आपके शरीर का एनर्जी लेवल भी बढ़ेगा। घी मे मौजूद पोषक तत्व मानसिक और शारीरिक सेहत के लिए फायदेमंद है। घी के इन बेहतरीन फायदों को जानकर हैरान रह जाएंगे आप…

प्रत्येक कोशिका को मजबूती देता है: आयुर्वेद के अनुसार घी शरीर की सभी कोशिकाओं को मजबूती देने का काम करता है इसलिए इसे रासा कहा जाता है। आपको बता दें कि रासा एक तरह का न्यूट्रीयेंट्स है जिसका अगर खाली पेट सेवन किया जाए तो यह आपके शरीर की कोशिकाओं का पालन पोषण करने में मदद करता है और आपके पूरे स्वास्थ्य को नियंत्रित करता है।

स्मरण शक्तिवर्धक: सिर पर गाय के घी की मालिश करने से स्मरण-शक्ति बढ़ती है, सिर के रोग भी दूर होते हैं। 

युवावस्था रखें कायम: एक ग्लास दूध में एक चम्मच गाय का देसी घी और मिश्री मिलाकर पीने से शारीरिक और मानसिक कमज़ोरी दूर होती है। गर्भवती महिला के घी खाने से उसका बच्चा मज़बूत और बुद्धिमान बनता है। इतना ही नहीं काली गाय का घी खाने से बूढ़ा इंसान भी जवान नज़र आने लगता है। 

आंखों की रौशनी: एक चम्मच शुद्ध घी, एक चम्मच पिसी शकर, चौथाई चम्मच पिसी कालीमिर्च तीनों को मिलाकर सुबह खाली पेट और रात को सोते समय चाटकर गर्म मीठा दूध पीने से आंखों की ज्योति बढ़ती है।

गला बैठना, खांसी: घी एक चम्मच, मिश्री एक चम्मच और 15 काली मिर्चें मिलाकर सुबह-शाम दो बार चाटने से गला बैठना और सूखी खांसी ठीक हो जाती है| इसे चाटने के बाद कुछ घण्टे पानी न पिएं। 

दुबलापन दूर होगा दूर: रात को सोते समय एक गिलास मीठे दूध में एक चम्मच घी डालकर पीने से शरीर की खुश्की और दुर्बलता दूर होती है, नींद गहरी आती है, हड्डी बलवान होती है और सुबह शौच साफ आता है। ठंड आने के पहले से ठंड खत्म होने तक यह प्रयोग करने से शरीर में बलवीर्य बढ़ता है और दुबलापन दूर होता है। 

ये खबर भी पढ़े: हरी मिर्च का पानी पीने के ये 5 कमाल के फायदे नहीं जानते होंगे आप

source

Back To Top

You have successfully subscribed to the newsletter

There was an error while trying to send your request. Please try again.

दैनिक समाचार will use the information you provide on this form to be in touch with you and to provide updates and marketing.