कोरोना से निपटने के लिए पंजाब द्वारा 4245 मेडिकल लोगों की भर्ती स्वीकृति

thumbnail


चंडीगढ़।कोरोना वायरस के फैलाव के कारण सरकारी अस्पतालों में मरीज़ों की बढ़ रही संख्या के कारण स्थिति से और प्रभावी ढंग के द्वारा निपटने के लिए पंजाब मंत्रीमंडल ने आज स्वास्थ्य विभाग में खाली पड़े 3954 रेगुलर पद और मैडीकल शिक्षा और अनुसंधान विभाग में 291 पद भरने के लिए हरी झंडी दे दी है। यह फ़ैसला आज शाम यहाँ मुख्यमंत्री कार्यालय में मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह की अध्यक्षता अधीन हुई मंत्रालय की मीटिंग के दौरान लिया गया।

मुख्यमंत्री कार्यालय के एक प्रवक्ता ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग में 3954 पदों में से 2966 पद पहले पड़ाव में भरे जाएंगे जबकि बाकी 988 पद अगले पड़ाव में भरे जाएंगे जो 30 सितम्बर, 2020 को रिक्त होंगे। मंत्रीमंडल ने डा. के.के. तलवाड़ के नेतृत्व में विशेष चयन कमेटी की तरफ से वॉक-इन -इंटरव्यू के द्वारा मैडीकल अफसरों (स्पैशलिस्ट) की जाने वाली भर्ती को भी जारी रखने की मंज़ूरी दे दी है। इसी तरह मंत्रीमंडल ने डाक्टरों, पैरा मैडीकल और अन्य स्टाफ की भर्ती पंजाब लोक सेवा आयोग और पंजाब अधीनस्थ सेवाएं चयन बोर्ड के घेरे में से निकाल कर बाबा फऱीद यूनिवर्सिटी ऑफ हैल्थ सायंसज़, फरीदकोट के द्वारा करने की मंजूरी दे दी है। बाबा फऱीद यूनिवर्सिटी के द्वारा यह पद भरने का फ़ैसला कोविड -19 की महामारी के दरमियान आपात ज़रूरतों के मद्देनजऱ लिया गया है जबकि इससे पहले ग्रुप ए और बी की भर्ती पंजाब लोक सेवा आयोग और ग्रुप सी और डी की भर्ती अधीनस्थ सेवाएं चयन बोर्ड द्वारा की जाती है।

विस्तार में जानकारी देते हुये प्रवक्ता ने बताया कि 2966 पदों में से 235 मैडीकल अफ़सर (जनरल), एक मैडीकल अफ़सर स्पैशलिस्ट (माईक्रोबायोलॉजिस्ट), चार मैडीकल अफ़सर स्पैशलिस्ट (सोशल प्रीवैंटिव मैडिसन), 35 मैडीकल अफ़सर (डैंटल), 598 स्टाफ नर्सें, 180 फार्मासिस्ट (फार्मेसी अफ़सर), 600 मल्टीपरपज़ हैल्थ वर्कर (महिला) और 200 मल्टीपरपज़ हैल्थ वर्कर (पुरुष), 139 रेडीयोग्राफरज़, 44 डायलसिस टैकनीशियन, 116 ओपरेशन थियेटर ऐसिस्टैंट, 14 ई.सी.जी. टैकनीशियन के अलावा 800 वार्ड अटेंडेंट की भर्ती की जायेगी। इनके अलावा मंत्रीमंडल ने 30 सितम्बर, 2020 को रिक्त होने वाले कुल 988 पदों के विरुद्ध 265 मैडीकल अफ़सर (जनरल), 323 मैडीकल अफ़सर स्पैशलिस्ट, 302 फार्मासिस्ट (फार्मेसी अफ़सर) और 98 एम.एल.टी. (ग्रेड -2) की भर्ती करने का फ़ैसला किया है।

मंत्रीमंडल ने पहले से सरकारी नौकरी कर रहे व्यक्तियों की प्रत्यक्ष भर्ती के द्वारा नियुक्ति में ऊपरी आयु सीमा 45 साल तक करने की छूट की राह पर स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के विभिन्न विंगों/संस्थानों में ठेके/आउटसोर्सिंग के आधार पर पहले ही काम कर रहे मुलाजिमों की भर्ती के समय ऊपरी आयु सीमा 45 साल तक करने में छूट देने की मंज़ूरी दे दी है। हालाँकि, शैक्षिक योग्यता में किसी किस्म की ढील नहीं मिलेगी। उक्त मुलाजिमों के लिए ऊपरी आयु सीमा 45 साल तक करने की छूट इस कारणकी गई क्योंकि वह विभाग के कामकाज से अच्छी तरह वाकिफ़ हैं और कोविड -19 की महामारी के दौरान उन्होंने शानदार सेवाएं निभाई।

यह खबर भी पढ़े: भारत में Tiktok बैन होने से सहमा चीन, यहां से करता था इतने अरबों में कमाई

यह खबर भी पढ़े: मुंबई में आज से चलेंगी 350 लोकल ट्रेनें : पीयूष गोयल

source

Back To Top

You have successfully subscribed to the newsletter

There was an error while trying to send your request. Please try again.

दैनिक समाचार will use the information you provide on this form to be in touch with you and to provide updates and marketing.